CG NEWS: माता-पिता और शिक्षक मिलकर संवारते हैं नौनिहालों का जीवन- विश्वनाथ योगी

N.V.News मुंगेली: सेमरसल व बटहा के पालकों की बैठक शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला प्रांगण में संपन्न हुआ जिसमें जागरूक अभिभावकों ने अपने बच्चों का मासिक रिपोर्ट कार्ड देखा,पढ़ाई लिखाई के प्रगति की जानकारी ली और साथ ही विद्यालय परिवार को सुझाव दिए साथ ही हर संभव सहयोग देने का आश्वासन भी दिया।प्रत्येक माह को कक्षा 6-8 वीं पढ़ने वाले बच्चों के माता पिता को विद्यालय प्रबंधन निमंत्रण देकर बुलाया जाता है इस बार खास तौर से तैयारी करते हुए विद्यालय का रंग रोगन,रंगोली और अल्पाहार की तैयारी के साथ सभी पालकों का भाव पूर्ण अभिनंदन किया गया।बारी बारी से सबने अपना परिचय दिया और तिमाही आंकलन का नंबर भी जाना। संतोषप्रद अंक और बच्चों के परिणाम को लेकर भी सबने अपनी राय रखी। गणित विषय में विशेष ध्यान देने की जरूरत को महसूस किया इसको लेकर गणित के शिक्षक राकेश पांडेय ने कहा कि जो स्कूल में पढ़ाया जाता है घर पर उसे बार बार अभ्यास करने के लिए कहें। धीरे धीरे गणितीय समझ विकसित होती जाएगी।नियमित उपस्थिति भी एक कारण बनेगा इसलिए सभी पालक बच्चों को ध्यान देकर शाला भेंजे ताकि सभी पाठ्यक्रमों को सीख सकें और समय पर निर्धारित पाठों के प्रश्नों का हल कर सकें।

इस अवसर पर प्रधानपाठक विश्वनाथ योगी ने सभी का स्वागत करते हुए कहा कि प्रतिदिन बच्चों को समय सारिणी का पालन कराएं,स्कूल से ज्यादा समय बच्चे घर पर रहते हैं पालकों के संरक्षण में रहते हैं इसलिए उनके समय पर पठन और लेखन,कंठस्थिकरण का काम आप सबकी देखरेख में हो। संगति,संस्कार और नैतिक रूप से बच्चों को अभी से अभ्यस्त कराएं।दोनों हाथ से ताली नहीं बजती इसलिए शिक्षक और पालक मिलकर बच्चों का भविष्य संवारे।इस पालक बैठक को संबोधित करते हुए शिक्षक राजकुमार कश्यप ने ए पी जे अब्दुल कलाम के उद्धरण का उल्लेख करते हुए बताया कि दुनिया में माता पिता और शिक्षक यदि बच्चों के सुधार की ओर ध्यान दें देंगे तो सभी बच्चों का सर्वांगीण विकास हो सकेगा।

माता को प्रथम शिक्षक बताते हुए उन्होंने कहा कि आपके पढ़ाए हुए बच्चों को हम शिक्षक सिखाते हैं इसलिए नशामुक्त वातावरण रखना,मोबाइल का संयमित उपयोग करना,दीक्षा एप की जानकारी,समय पालन की सीख,दीपावली पर पटाखों का सतर्कता पूर्वक उपयोग करने और लेखन कार्य पूर्ण करने के लिए सबको उत्साहित किया।आने वाले समय में 17 नवंबर को विधानसभा में शत प्रतिशत मतदान करने जाएं और बिना भय,पक्षपात और लालच के योग्य प्रत्याशी का चयन कर सभी वोट करने अनिवार्य जाएं,उत्सव का माहौल हैं आपस में संबंध खराब न हो,एक दूसरे का सहयोग करते हुए सबको मतदान के लिए प्रेरित करने का काम सबको करना है।स्कूल के पौधों की सुरक्षा और अवकाश के दिनों में विद्यालय की सुरक्षा गांव वालों को सौंपते हुए उन्होंने कहा कि दीपावली के दिन एक दीया स्कूल के नाम जलाने के लिए त्यौहार के दिन अवश्य पधारने का आग्रह किया जिसे सबने स्वीकार किया।

अकादमिक रूप से सामुदायिक सहभागिता बढ़ाने हेतु सबको अनेक तकनीकी बातों से परिचित कराया गया।प्रत्येक विषय को कम से कम आधे घंटे कंठस्थ करने,एक घंटे लिखने,व्यायाम,कसरत,दौड़ रोज करने के लिए भी कहे गए। मतदान के दिन सबको प्रेरित करके मतदान केंद्र तक लाने के लिए दल बनाकर काम करने का निवेदन किया।कोई मतदान से वंचित न रह जाएं,हर घर से 18 वर्ष के ऊपर के मतदाता वोट करने आए और सुयोग्य व्यक्ति को चुनने में गंभीरता दिखाए।संस्था में हुए खर्च और विकास एजेंडा की जानकारी पालकों की दी गई।अपने साथ अन्य गांव वालों को जोड़ने का काम करना है और सबको ज्ञान के प्रकाश से जोड़कर अज्ञानता के अंधकार को खत्म करने के लिए यह विद्यालय मेरा अपना है का भाव मन में संजोकर खुद का काम जिम्मेदारी समझकर करने का आह्वान किया ।शिक्षक उमाशंकर सिंह ने कहा स्वयं पालकों को नशामुक्त,शैक्षणिक योग्यता से युक्त और विशेष रूप से अच्छे पालकों के गुणों बात रखी,खेल और सांस्कृतिक कार्यक्रम में सहभागिता के लिए बच्चों को प्रोत्साहित करें।इस बीच माताओं ने अपनी बातें रखीं,पुरुषों ने सहयोग देने की बात कही।

पुष्पा चतुर्वेदी मैडम ने बाल कैबिनेट गठन और उनके कार्यों की जानकारी दिए गए। सबने इस आयोजन में आकर बहुत कुछ सीखने को मिलता है कहकर आयोजन को सफल बताया।अनेक गतिविधियों में सम्मिलित होने का वचन दिया।आगामी कार्यक्रमों में बढ़ चढ़कर भाग लेने की सहमति जताई।विद्यालय विकास में योगदान देने की इच्छा जताई और बच्चों के सतत विकास के लिए अपनी भूमिका भी तय किए।इस अवसर पर खेमलाल कश्यप,राजाराम,पुनीत राम साहू,सुकृता पटेल,सविता निषाद,गायत्री साहू,रेखा कश्यप सहित मनहरण,धीरू पांडेय,पूर्व प्राचार्य और अभिभावक राधेश्याम सर,दिनेश शुक्ला,जनक राम और बड़ी संख्या में पालकों की उपस्थिति रही।